बिना सनी देओल के कैसे बनी Dunkirk?

sunny deol

ऊ बोलिस के एक ठो अंगेरजी में Dunkirk करके सिनेमा आया है. देखेंगे का?

अरे एक बार बॉर्डर देख लिए उसके बाद भी कोई यो वॉर मूवी बचा है का देखने के लिए?

अरे बहुते अच्छा स्पेसल इफ़ेक्ट दिया है, हम सुने हैं.

अरे दिया होगा! पर एक्को ठो गाना नहीं है फिल्म में.

पर सुने के बैकग्राउंड म्यूज़िक बहुते बोवाल है.

अरे रहने दो. इ भी कोई सिनेमा हुआ, के हेरोइनवा एक्को बार रोइ नहीं, गणवा भी नहीं गाई. कुछ नहीं तो संदेसे आते हैं वाला गणवा ही डाल दिया होता.

हैं?

और नहीं तो का.  जे पी दत्त्वा से केवल राइट्स तो लेना था…और सोनुवा तो ऐसे भी बेकार है आजकल, फ्री ये में गा दिया होता.

हैं?

और बताईये, सनी देओल के ढाई किलो के हाथ के बगैर कोई वॉर मूवी बन सकता है का…

Advertisements

Where George Orwell meets Wasim Barelvi 

george orwell
अभी कुछ दिनों की बात के एक मित्र जो के हिंदुस्तानी में थोड़ा बहुत लिखते हैं, उन्होने पुछा के जॉर्ज ओरवेल की Animal Farm में एक पंक्ति है “All animals are equal, but some animals are more equal than others,”  इसका हिंदुस्तानी में क्या अनुवाद होगा.

अब एक तरीका ये था के ओरवेल की इस पंक्ति का सीधे सीधे अनुवाद किया जाए. मुझे ये तरीका बड़ा बोरिंग लगा, क्यूंकि हर भाषा में इतनी गहराई होती है, के कम से कम मिसाल तो उसी भाषा में दी जा सके.
तभी मेरी tubelight हमेशा की तरह देर से जली और प्रोफेसर वसीम बरेलवी का एक शेर याद  आया: “गरीब लहरों पर पहरे बिठाये जाते हैं, समन्दरों की तलाशी कोई नहीं लेता”. इस शेर का भी लगभग वही माने है जो ओरवेल की पंक्ति का है.

ओरवेल ने अपनी बात प्रोफेस्सर बरेलवी से काफी पहले कही थी. क्या ओरवेल की ये पंक्ति प्रोफेसर साब के शेर की प्रेरना है? अब ये तो वही बता सकते हैं.

मतलब इसका ये है, के दुनिया में जो भी कहा जा सकता है, वो कहा जा चूका है. आप बस इतना कर सकते हैं को उसी बात को अपने अंदाज़ में कह सकते हैं. और अपने अंदाज़ में प्रोफेसर बरेलवी ने ये बात खूब कही है.

अब GST को ही ले लीजिये…
Prof._Wasim_Barelvi_(2)